तुला राशि
libra.gif

तुला लगन की कुंडली में सकारात्मक मंगल नगद धन देने वाला होता है,नकारात्मक मंगल जीवन साथी और साझेदार के लिए समझा जाता है.अक्सर सकारात्मक मंगल का प्रभाव नकारात्मक व्यक्तियों नकारात्मक वस्तुओ नकारात्मक शक्तियों के प्रति प्रयोग करने पर इस लगन वाले जातको के लिए फायदा देने वाली बाते मानी जाती है,जैसे किसी व्यक्ति पर नकारात्मक प्रभाव है और वह अपने को बीमार समझ रहा है उसे चिकित्सा की जानकारी से या चिकित्सा के द्वारा सही करने की क्षमता तुला लगन वाले जातक के अन्दर अर्जित की गयी है तो वह मरते हुए व्यक्ति को ज़िंदा करने की हिम्मत रखता है,उसी प्रकार से अगर कोई सामान जो रोजाना के लिए प्रयोग में लाया जाता है और वह वह बेकार हो गया है तो तुला लगन का जातक उसे ठीक करने के बाद दुबारा से काम करने के योग्य बना लेता है अगर उसने इंजीनियरिंग सीखी है तो,इसी प्रकार से किसी व्यक्ति पर या स्थान पर नकारात्मक शक्ति का यानी भूत बाधा या इसी प्रकार की शक्ति अपने कारण से व्यक्ति को बरबाद कर रही है स्थान को उजाड़ रही है तो तुला लगन वाला व्यक्ति उस शक्ति की जगह पर सकारात्मक शक्ति को स्थापित करने के बाद सकारात्मक बनाने की योग्यता रखता है जबकि उसने इन शक्तियों के बारे में खूब अध्ययन किया है और प्रत्यक्ष रूप से समझा है.मंगल का रूप मेष राशि में नकारात्मक स्थिति इसलिये रखता है कि तुला राशि इस मंगल को बेलेंस बनाने की जब भी कोशिश करता है तो वह व्यक्ति चाहे जीवन साथी के रूप में हो या साझेदार के रूप में हो या किसी प्रकार की कानूनी या घरेलू समस्या से सुलझाने वाले कार्यों से सम्बंधित हो,अह व्यक्ति इस राशि के प्रति बजाय दिमाग से बोलने के खोपड़े से बोलता है या अहम से बोलने के कारण अथवा केवल अपना दिमाग चलाने से वह जीवन साथी का रूप दिक्कत देने वाला होता है,साझेदारी के रूप में काम करने वाला व्यक्ति भी दिक्कत देने वाला होता है,और अक्सर यह दोनों ही प्रकार तब और खतरनाक हो जाते है जब सप्तम में केतु राहू या शनि का प्रभाव हो या यह ग्रह इस भाव में विराजमान हो,तुला राशि के लोग अक्सर वृश्चिक राशि वालो के लिए बरबादी का कारण बन जाते है इसके लिए माना जाता है कि हर राशि की बारहवी राशि उसकी बिनाशक होती है,यह बात अक्सर संबंधो के मामले में जानी जाती है.इस बात को धन के मामले में भी जाना जाता है और क़ानून तथा सामाजिक व्यवस्था के रूप में भी माना जाता है.तुला राशि हमेशा कानूनी सीमा के अन्दर चलने वाला होता है,और जो भी सम्बन्ध तुला राशि के लिए कानूनी लोगों से होते है वे अक्सर किसी न किसी प्रकार की अपमान या सामाजिक व्यवस्था से जुड़े मामले में होते है,इस राशी वाले जातक अक्सर अपने मन को बदलने वाले होते है,और पहले सोची बात को पूरा नहीं करते है या पहली बात को तोड़ कर दूसरी बात को पूरा करने के लिए माने जाते है.यह जिस स्थान पर पैदा होते है अक्सर उस स्थान को नेस्तनाबूद होते हुए देखा जाता है यह अपनी स्थिति अपने अनुसार ही रहने वाले स्थान को बनाकर रखते है,शिक्षा के अन्दर यह काम को करने के बाद सीखने वाली शिक्षाओं को जल्दी सीखते है पढ़ने के बाद दिमाग का कई दिशाओं में डायवर्ट होने के कारण यह जल्दी से पढी हुई बात को सीख नहीं पाते है,लेकिन बार बार अगर उसी बात को उन्हें बताया जाए तो वे उस बाद को आजीवन सीख कर काम में ले सकते है.तकनीकी मामले में यह मंगल के सकारात्मक होने के कारण और सकारात्मकता को यह सामने करने के लिए बेकार चीजो पर अपने प्रयोग करते है,उन प्रयोगों में बिजली की शक्ति को भी माना जा सक़ता है,जली हुयी राख (सिलीकोन) आदि के बने सामान के रूप में भी जाना जा सकता है.विदेशी लोगों से यह सम्बन्ध भी जल्दी से स्थापित कर लेते है लेकिन उन्हें याद कम ही रहता है कि इन्होने सम्बन्ध कब बनाए थे.कर्जा दुश्मनी बीमारी और बड़ी आफते ही इनके ऊपर हावी होती है जो भी इनका दुश्मन बनता है वह विदेश से सम्बंधित होता है या इनके रहने वाले स्थान से अग्नि कोण में रहने वाला व्यक्ति ही होता है.इनके लिए जब भी अपमान वाली बात बनती है तो वह अक्सर धन वाली या कुटुंब की संपत्ति के मामले में बनती है,जैसे परिवार की संपत्ति को ले कोई जाता है लेकिन चुप रहने के कारण आक्षेप इसी राशि के लोगों पर लगाया जाता है.भाग्य के मामले में यह केवल लोगों से संपर्क कर सकते है लेकिन लोगों की औकात पर इन्हें कम ही भरोसा होता है अपनी बात को यह धर्म से पूर्ण कह देते है लेकिन खुद उस बात पर चले यह जरूरी नहीं है,कार्यों के लिए यह जनता से जुड़े काम आसानी से कर सकाते है और पानी चावल चांदी तथा इसी प्रकार के कार्य इन्हें अच्छे भी लगते है और कर भी सकते है अक्सर इस राशि के लोग अपने लिए हमेशा घर बनाने और घर के लिए चिंता करने वाले लोग ही होते है,पिता का एक घर इनके जन्म के बाद बरबाद हुआ होता है दूसरा घर माता के प्रयास से बनाया गया होता है,पिता परिवार में अक्सर कई मृत्यु के बाद ही जातक का जन्म होना माना जाता है,सम्मुख दुश्मनी अक्सर अगर ताई है तो उसी खानदान से आजीवन चलती है और अपमान जान जोखिम के कारण उसी खानदान से बनते रहते है.दोस्ती के भाव में अक्सर राजनीतिक लोगों से जान पहिचान अच्छी होती है और वे लोग इस राशि में जन्म लेने वाले लोगों की सहायता भी करते है,लेकिन अहम् के कारण तुला राशि वाले जातक कम ही संपर्क रखते है,यही प्रभाव तुला राशि के बड़े भाई बहिनों के लिए भी माना जाता है,इस राशि के बड़े भाई बहिन या तो जनता की नौकरी करते है या धन बैंक बीमा या फायनेंस वाले काम करते है.कमन्यूकेशन के कामो को करने के लिए भी अक्सर देखा गया है.इस राशि वाले संतान के मामले में अक्सर तीन संतान के लिए माने जाते है जिनके अन्दर दो पुत्र या दो पुत्री की पैदाइस संभव होती है.आराम करने वाले स्थान को भी यह सेवा वाला स्थान बना लेते है और अक्सर लोगों की भीड़ से यह घिरे रहते है,इन्हें अकेले बैठना अच्छा भी नहीं लगता है और जितने यह लोगों से गहरे रहते है उतने ही यह व्यस्त रहने के लिए माने जाते है.मंगल की सकारात्मक राशि सामने होने के कारण अक्सर तुला राशि वाले जातक तामसी भोजन की तरफ अपना ध्यान अधिक आकर्षित रखते है और कबाड़ से जुगाड़ बना कर अपने बेकार के खर्चो को पूरा करना भी जानते है.

Unless otherwise stated, the content of this page is licensed under Creative Commons Attribution-ShareAlike 3.0 License