आपके प्रश्नो के उत्तर का दूसरा भाग

प्रश्न

City : Chhatarpur
State : Madhya Pradesh
Country : India
Birth Day : 15
Birth Month : 11
Birth Year : 1985
Birth Time Hour : 05
Birth Time Minute : 35
Question : Sir! I have done B.Tech in Electrical Engineering & i am preparing for government job. I just want to know, when i will get government job ? Will i get it or not?

उत्तर

आपकी लगन तुला है,आपकी राशि धनु है,आपके लगनेश शुक्र केतु और सूर्य के साथ आपके लगन में ही विराजमान है साथ ही यह ग्रह आपके चन्द्रमा से ग्यारहवे भाव में है। लाभ के मालिक सूर्य के होने से और सूर्य का तुला राशि का नीच प्रभाव लेकर उच्च में बैठने से आपके सप्तम में राहु के बैठने से और तीसरे भाव के चन्द्रमा के साथ अपनी पूरी युति देने से आपके साथ सरकारी नौकरी के प्रति अभी तक छल किया जाना ही मिलता है,साथ ही आपके सम्बन्धी जो ससुराल खानदान से सम्बन्धित है,या जो आपके पिता खानदान से जुडे है वे भाग्येश बुध के साथ शनि के स्थापित करने के कारणों का भी प्रयोग कर अपने स्वार्थ की पूर्ति को करने के लिये जाने जाते है। राहु आपके जीवन में नौकरी का फ़ल देने वाला है और राहु का गोचर वर्तमान में आपके धन भाव और कुटुम्ब भाव में जन्म के बुध और शनि पर गोचर कर रहा है,यह प्रभाव आपके लिये यह भी सूचित कर रहा है कि आपके द्वारा नौकरी के लिये ठगी भी की गयी है और उस ठगी का रूप रिस्वत आदि के रूप में जाना जाता है,आपके द्वारा जो कार्य अभी तक किये जाते रहे है उनके लिये शनि का गोचर जन्म के मंगल के साथ होने से अधिकारियों या परिवारी सदस्यों की अनदेखी तथा कार्यों के प्रति ब्लेम आदि देने से भी आपके साथ कार्य से दूर करने का अवसर माना जाता है,आने वाले पांच जून से सूर्य की दशा शुरु हो रही है इस समय में आपके लिये सरकारी नौकरी के प्रति अवसर आने के योग बनेंगे आप अपनी शिक्षा के अनुसार सरकारी नौकरी के लिये खुद की योग्यता से ही प्रयास करे,अन्यथा जो आपको नौकरी के नाम पर ठगने का प्रयास कर रहा है वह आपसे धन लेकर आपसे दूर हो जायेगा।

प्रश्न

City : Mumbai
State : Maharashtra
Country : India
Birth Day : 05
Birth Month : 06
Birth Year : 1968
Birth Time Hour : 08
Birth Time Minute : 30
Question : Mera jindagi ka sab se bura vakt chal raha hai. krupa karke margdarshan kare, tatha upaay bataieyan.

उत्तर

गोचर के केतु का प्रभाव आपके जन्म के बारहवे मंगल सूर्य और शुक्र पर जा रहा है,यह केतु आपके लिये धन के लिये नकारात्मक प्रभाव दे रहा है,सरकारी या पिता या पुत्र के प्रति बुरा प्रभाव दे रहा है,सम्पत्ति के प्रति या पत्नी के प्रति या बनायी गयी जायदाद के प्रति भी बुरा प्रभाव दे रहा है। सबसे अधिक असर आपके जीवन अस्पताली या जेल वाले कारणों को पैदा करने के बाद सरकार के द्वारा धन की बरबादी के कारण न्याय और कानूनो के प्रति भी माना जाता है,आपके जन्म के चन्द्रमा के साथ शनि का गोचर भी आपके दिमाग को परेशान कर रहा है वह किसी व्यक्ति के द्वारा अपमान करने रहने वाले स्थान के प्रति बैर भाव देने माता मन मकान की शांति को फ़्रीज करने के कारणों के लिये भी जाना जाता है। शनि का सीधा मारक प्रभाव आपके द्वारा प्रयोग की जाने वाली बुद्धि पर भी जा रहा है जो भी बात आप करते है उसके अन्दर ही आपके लिये दिक्कत मानी जा सकती है। या तो घर की बहिन या बुआ बेटी के द्वारा भी यह कारण पैदा किये जाने माने जा सकते है। पिछले समय में गुरु का आपके कार्य भाव के शनि राहु पर चलने के कारण आपके द्वारा कोई न कोई गलत कार्य होने भी माने जाते है उन कार्यों से आपके साथ जो अपमान और पारिवारिक कारणो का विवाद शुरु हुआ है वह आपके लिये धन और आपकी बुद्धि को बरबाद करने के लिये भी माना जाता है। राहु का सीधा सम्पर्क वर्तमान में आपके द्वारा किये जाने वाले कार्यों से अन्वेषण करने के प्रति आपके द्वारा पूर्व में कमाये गये धन के प्रति कानूनी कारण भी माने जा सकते है,आप शनि के उपाय करें,नीलम सवा पांच रत्ती से ऊपर के वजन का पंचधातु के पेंडल में पहिने साथ ही राहु के छटे भाव में बैठकर आपके जीवन के प्रति की जाने वाली कानूनी क्रिया को समाप्त करने के लिये भी उपाय करने जरूरी है। नीलम को मंगाने और शनि राहु के उपाय के लिये आप moc.liamg|airuadahbortsa#moc.liamg|airuadahbortsa पर अपनी जिज्ञासा को भेज सकते है।

प्रश्न

City : belgaum
State : karnataka
Country : India
Birth Day : 27
Birth Month : 11
Birth Year : 1988
Birth Time Hour : 10
Birth Time Minute : 35
Question : muze mera jivansathi kar melega aur konse disha me melega ?

उत्तर

आपकी लगन मकर है और आपके जीवन साथी का कारक चन्द्रमा है,चन्द्रमा आपके कार्य क्षेत्र मे स्थापित है,साथ ही चद्नमा का स्थान आपके निवास से उत्तर दिशा में स्थापित है,आपकी शादी का समय तीस जून के आसपास मिलता है।

प्रश्न

D.O.B - 11-05-1979
TIME - 05.05AM
PLACE- BALANGIR -ORRISA

I WANT TO KNOW THAT WHEN I GET MARRIED? AT PRESENT I AM 32 YEARS OLD.please tell me that i have pitra dosh or not?
PLEASE GIVE REMEDIES.

उत्तर

आपकी लगन मेष है और आपकी राशि तुला है,लगनेश मंगल लगन में ही है,और सप्तमेश शुक्र आपके बारहवें भाव में विराजमान है,शनि राहु आपके पंचम भाव में बैठ कर नाग दोष की उत्पत्ति को कर रहा है और यह दोष आपके वैवाहिक जीवन लाभ के अवसर तथा धन के लिये भी अपना असर दे रहा है। आपका धन वाला क्षेत्र भी शुक्र के आधीन है और शुक्र के बारहवे भाव में बैठने के कारण आपके अन्दर मोटापा भी है,आप मंगल बुध और सूर्य के एक साथ लगन में विराजमान होने के कारण आपका स्वभाव भी तेज है और आप किसी भी प्रकार से अपने असर को समाज परिवार और जीवन साथी के प्रति उत्तेजना के प्रति दिखा सकते है। नाग दोष के कारण आपकी संतति नही चलने के कारण मिलते है,आपके लिये जो दोष आपकी शादी नही होने दे रहे है वे इस प्रकार से है,पहले तो आपके पंचम में शनि राहु का दोष है जो परिवार को या तो बनने नही देता है और बनता भी है तो समाप्त करने का कारण बनता है दूसरे आपके लगन का मंगल आपके लिये मंगली दोष को देता है तीसरे आपका सप्तमेश शुक्र केतु और सूर्य के बीच में बैठ कर पापकर्तरी योग की सीमा में है। शनि राहु की शांति के लिये आप सम्पर्क कर सकते है इसके साथ ही आप बारह अमावस्या लगातार पास के पीपल के पेड के नीचे दीपक लगाने का कार्य कर सकते है उसके बाद आपके लिये विवाह का योग अपने आप पैदा हो जायेगा।

प्रश्न

City : Lansdowne (UP)
State : Uttrakhand
Country : India
Birth Day : 19
Birth Month : 09
Birth Year : 1960
Birth Time Hour : 21
Birth Time Minute : 30
Question : Meri Life mey unnati kab hogi. mai politics mey jana chahata hoon, kya mai success hoonga

उत्तर

आपकी लगन वृष है और आपके लगनेश पंचम भाव मे विराजमान है,शुक्र का कन्या राशि में जाने से और छठे भाव के मालिक भी शुक्र के होने से तथा चौथे भाव के मालिक सूर्य के साथ होने से धन और बुद्धि के मालिक बुध के साथ होने से जीवन की उन्नति परिवार के आपसी सामजस्य के नही बैठने से रुक जाती है चन्द्र राहु चौथे भाव मे होने से पारिवारिक चिन्ता हमेशा बनी रहती है और राहु मानसिक रूप से माता को भी ग्रहण देता है और आपके दिमाग को भी हमेशा ग्रहण देता है,मानसिक सोच के कारण परिवार की जिम्मेदारियों को निभाने के कारण बडे परिवार का वजन उठाने के कारण भी उन्नति के रास्ते अक्सर अन्धेरे में खो जाते है। इसके साथ ही पीछे के समय में शनि का गोचर आपके जन्म के चन्द्रमा के साथ रहा है,यह समय आपके पिता और परिवार के लिये दुखदायी रहा है,जनहानि के साथ साथ अपमान और आक्स्मिक परेशानी भी झेलनी पडी है,अस्पताली खर्चे और आने जाने के खर्चे भी आपके साथ बडे रूप से जुडे रहे है,वर्तमान में जो भी धन वाले क्षेत्र थे उनके अन्दर भी कोई न कोई रुकावट आने का संकेत मिलता है,बचत किये गये धन को खर्च करने का संकेत मिलता है या जो धन आपको सरकारी रूप से मिलना था वह भी फ़्रीज होने का संकेत मिलता है,सरकारी स्कीमो से निवास की किस्ते तीनो बच्चों की शिक्षा का खर्चा पत्नी के प्रति दवाइयों में किया जाने वाला खर्चा ही आपकी धन की उन्नति में बाधक मानी जाती है,आप शनि और राहु के उपाय करे।

प्रश्न

City : GONDIA
State : MAHARASHTRA
Country : India
Birth Day : 20
Birth Month : 01
Birth Year : 1990
Birth Time Hour : 05
Birth Time Minute : 00
Question : sir namaskar,mujhe konsa ratna dharan karna chahiye…

उत्तर

आपके भाग्य के मालिक सूर्य है जो वक्री शुक्र और राहु के साथ धन भाव मे विराजमान है,आपकी बुद्धि के मालिक मंगल है जो आपके बारहवे भाव में विराजमान है और अष्टम केतु से द्रश्य है,आपके लगन के मालिक गुरु है जो वक्री होकर सप्तम स्थान में विराजमान है तथा अष्टमेश चन्द्रमा से अपनी युति बनाकर विराजमान है,इन सभी ग्रहों की युति से आपके लिये गुरु के लिये पुखराज मंगल के लिये मूंगा और सूर्य के लिये माणिक रत्न एक साथ पेंडल में पहिनने चाहिये। इनके पहिनने से आपके त्रिकोण यानी लक्ष्मी स्थान में विराजमान शनि और वक्री बुध का असर भी दूर होगा और आपकी प्रतिष्ठा तथा जीवन के प्रति स्वार्थी लोगों के द्वारा कदम कदम पर मिलने वाली हानि से भी बचा जा सकेगा। आप तीनो रत्नों के पेंडल के लिये सम्पर्क moc.liamg|airuadahbortsa#moc.liamg|airuadahbortsa पर कर सकते है.

Next

Back

Unless otherwise stated, the content of this page is licensed under Creative Commons Attribution-ShareAlike 3.0 License