कन्या राशि
virgo.gif

कन्या राशि कालचक्र का छठा हिस्सा है,साथ ही यह रोजाना के किये जाने वाले कामो और नौकरी जैसे काम करने के लिए भी माना जाता है उसका असर सीधा जीवन को पार करने के लिए किये जाने वाले कामो के लिए भी माना जाता है.लेकिन काल चक्र का छठा हिस्सा होने के कारण यह गुप्त रूप से किये जाने वाले कामो के लिए भी माना जाता है.जातक के अन्दर सेवा करने वाली अजीब शक्ति होती है वह किसी को भी सामने देख कर बेलेंस करने का ज्ञाता होता है कि वह चाहता क्या है,और उससे किस तरह से बात की जा सकती है.जो लोग अपनी किस्मत में पूर्वजो का धन या पीछे से कोई भौतिक सहायता लेकर पैदा नहीं हुए होते है वे अक्सर कन्या राशि के अन्दर आते है,उन्हें आजीवन सेवा करनी पड़ती है और जब भी वे किसी बड़े संस्थान आदि के लिए मालिकाना हक़ पैदा करने की कोशिश करते है या पदवी वाली बाते करते है उनके ऊपर तरह तरह के आक्षेप और आफते सामने आने लगती है साथ ही यह भी होता देखा गया है कि उन्हें अगर कोई पदवी भी मिल जाती है तो वे किसी न किसी प्रकार से किसी न किसी दबाब के अन्दर काम करने वाले होते है.या तो उनके ऊपर परिवार के दबाब होते है या जिस क्षेत्र में वे काम करते है उस क्षेत्र से जुड़े गलत लोगों के दबाब में काम करते पाए जाते है.जैसे कोई कानूनी काम करता है तो वह किसी न किसी दबाब के कारण चाहे वह धन का दबाब हो या आत्म रक्षा के लिए प्रयोग किया जाने वाला दबाब हो वह काम करते देखे गए है.अक्सर इस राशि में जन्म लेने वाले लोग बनिया तबियत का प्रयोग अपने काम के अंदर करते है उन्हें अपनी भाषा बोलने और लिखने के साथ अपने काम करने की एवज में धन की आवश्यकता पड़ती है,उनके कार्य अक्सर गूढ़ ही देखे जाते है और वे अपने को जितने वे है उससे अधिक छुपा कर रखते है,उन्हें लोगों के सामने प्रदर्शन करना नहीं आता है,किसी कारण से वे अगर किसी बुराई मान जाते है तो वे अपनी अंतर्बुद्धि से काम करने के बाद बुराई करने वाले को गुप्त रूप से कोई न कोई उलटा रास्ता दिखा देते है.कन्या राशि वाले अक्सर अपनी सामाजिक मर्यादा को देख कर चलने वाले होते है मर्यादा का पाठ उन्हें अपनी माँ से मिला होता है और वह अपनी मर्यादा में रह कर ही ऊंची शिक्षा को माता की तरफ से ही प्राप्त करते है,कन्या राशि वाले जातको के पिता का स्वभाव लोगों के साथ जुड़ने वाला तो होता है लेकिन दूसरों की बाते अधिक पता होती है जबकि अपने परिवार में क्या हो रहा है उन्हें ज्ञात नहीं होता है.माता के द्वारा ही अपने परिवार और समाज की बातो को निभाया जाता है.अक्सर कन्या राशि के जातको की पढाई बीच में ही छोताती है लेकिन अगर सही रूप से माता के द्वारा प्रयास किये जाते है तो वह पढाई दुबारा से शुरू हो जाती है तो वह ऊंची शिक्षा में जाकर ही रुकती है.कन्या राशि के जातक अक्सर कानूनी पढाई विदेश से सम्बन्धित कार्यों की पढाई यात्रा आदि के कामो की पढाई ऊंची शिक्षा को देने और कालेज आदि में पढ़ाने की पढाई को पूरा कर लेते है.कन्या राशि के जातको के द्वारा अक्सर दोहरे काम एक साथ किये जाते है और वे अपने कार्यों में अक्सर अपने ही मित्रो या बड़े भाई बहिनों की नजर में समय समय पर आँख की किरकिरी बन जाते है,इसका कारण उनकी सेवा भावना ही मानी जाती है,जितना श्रम कन्या राशि वाले अपने रहने वाले या काम करने वाले स्थान में करना जानते है उतना श्रम उनके बड़े भाई बहिन या दोस्त नहीं कर पाते है.लेकिन कन्या राशि वाले जातक अक्सर करजाई अपने दोस्तों या बड़े भाई बहिनों की बजह से ही बनते है और उनके ही रोगों में दुश्मनी में बीमारी में सहायक होकर सामने आते है.कन्या राशि के लोगों के जीवन साथी के लिए एक अनोखी पद्धति मानी जाती है,अक्सर उनकी शादी ननिहाल परिवार के लोगों के द्वारा या किसी प्रसिद्द जनता के जानकार या सेवा करने वाले व्यक्ति की मार्फ़त ही होता है,जीवन साथी को बड़े संस्थान को संभालने की योग्यता होती है और वह अक्सर बड़े परिवारों से ही आता है.इस राशि वाले अक्सर बीमारियों से गहरे रहते है जैसे वीर्य संबंधी बीमारी या पेशाब संबंधी बीमारी,इसके साथ ही इनके अपमान के लिए इनकी संतान ही सामने आती है और जोखिम लेने के लिए यह किसी भी व्यक्ति की सहायता के लिए तैयार रहते है भले ही वह उनके साथ कोई भी बुराई करे.इनके पूर्वजो में धन की स्थिति अच्छी होती है और और अक्सर पिता पूर्वजो की धनाढ्य स्थिति के कारण ही केवल घर परिवार में मौज मस्ती के लिए माना जाता है और माताजी को पूरे परिवार की जिम्मेदारी संभालने के लिए मजबूर होना पड़ता है,इनके कार्य कुशल होने के कारण अक्सर कन्या राशि के जातको के जीवन साथी मोटापे के रोग से ग्रस्त हो जाते है.इनके लिए कमन्यूकेशन के काम मारकेटिंग वाले काम राज्य में राजनीतिक व्यक्ति के द्वारा किये जाने वाले काम दरजी सिलाई कपडे फैसन को बढ़ावा देने वाले काम कानूनी रूप से फ़ाइल बनाने वाले काम कानूनी की किताबे बनाने और बेचने वाले काम कई लोगों को इकट्ठा करने के बाद समुदाय बनाने वाले काम भी माने जाते है.इन्हें लाभ के समय में इमोसन वाले कारणों से भी गुजरना पड़ता है जैसे किसी के प्रति किये जाने वाले कार्यों के बदले में अगर सामने वाला अपनी व्यथा को रोने लगता है तो कन्या राशि वाला जातक भावुकता में अपने किये जाने वाले काम की एवज में मिलने वाला पारिश्रमिक छोड़ने के मजबूर हो जाता है,उसे इस कारण से अपने परिवार और समाज की बाते सुनने को भी मिलती है.राजनीतिक लोगों से और राज्य की सेवाओं से अक्सर कन्या राशि बड़े घाटे में रहते है जहां भी वे नौकरी या सर्विस करते है किसी बड़े रोग के शिकार हो जाते है या दिमागी रूप से किसी न किसी रोग के लक्षण जो अक्सर मानसिक रोगियों में मिलते है के मरीज हो जाते है,अहम् की भावना से इनके द्वारा समय और असमय में इन्हें सरकारी कष्टों से गुजरना पड़ता है.

Unless otherwise stated, the content of this page is licensed under Creative Commons Attribution-ShareAlike 3.0 License