धर्मेन्द्र सुरतानी

धर्मेन्द्र सुरतानी

चौबीस दिसम्बर दो हजार सात से आपकी राहु की महादशा में सूर्य का अन्तर चालू हुआ है,इस समय में आपके लिये कठिनाई का समय शुरु होता है,बेकार की परेशानियां और उनपर खर्च करने वाले कारण बनते है,धन और अपनी औकात को बढानी की चिन्ता लगी रहती है,धर्म और सरकार से सम्बन्ध बनाने में इच्छा जमती है,जो भी छुपे दुश्मन होते है,वे किसी न किसी प्रकार से परेशान करते है,और सरकार से भी डर का सामना करना पडता है,किसी प्रकार से भोजन के अन्दर विषाक्त पदार्थों का जाना भी मिलता है,आग वाले कारण भी पैदा होते है,अधिक चिन्ता के कारण सिर दर्द की परेशानी मिलती है,और आंखों में कमजोरी भी मिलती है,किसी न किसी प्रकार से ह्रदय सम्बन्धी बीमारिया मिलती है,खाने पीने की चीजों और अन्य कारणो से इन्फ़ेक्सन की बात सामने आती है,सरकार से सम्बन्ध बनते है और किसी बैंक आदि से किसी न किसी प्रकार से सरकार या सरकारी बैंक से फ़ायदे मिलते है,अगर राहु का भली भांति उपाय किया तो,किसी मृत्यु से सम्बन्धित काम को करने के बाद समाज में नाम भी मिलता है,और जहां पर भी रहते है,उस स्थान के मुखिया से सम्बन्ध बनने के बाद कुछ रहने वाले स्थान की जिम्मेदारियां भी मिलती है,सरकार से भी नाम और ख्याति मिलती है,विदेश की यात्रायें भी होती है,पितृ तर्पण वाले काम भी करने पडते है,और उन कामों के अन्दर खर्चा भी करना पडता है। इस समय में दोस्तों और रिस्तेदारों के साथ मिलकर बैठना भी हो जाता है,किसी नई बात की जानकारी होने पर अचम्भा भी होता है,सरकार और बैंकों से कई बार बैठकें करने पर छब्बीस जुलाई 2008 तक धन की प्राप्ति भी होती है।

26/7/2008

किसी प्रकार से ऊंची जगह से गिरने का खतरा पैदा होता है,नौकरों के द्वारा कोई नई टेंसन दी जाती है,और बहिन से किसी प्रकार से नकारात्मक बात भी होती है,पत्नी से भी कोई चिक चिक बाली बात होती है,पुत्र से किसी प्रकार की अनबन होती है,किसी दलाल से सम्पर्क भी साधा जाता है,और कमीशन पर काम करने के लिये बात की जाती है।

28/7/2008

धन की प्राप्ति का कारण बन जाता है,खुशी भी होती है,और किसी प्रकार की घरेलू और कार्य स्थान के लिये सजावटी सामान को खरीदने या वाहन वाली बात भी चलती है,किसी प्रकार के नये साधन की प्राप्ति के लिये बात भी चलती है,नया टेलीफ़ोन या नया काम करने वाला औजार भी खरीदना पडता है,जो प्राप्ति होती है,उससे संतोष भी पैदा होता है,किसी प्रकार से पुराने दोस्त की बीबी से बात होती है,और वह अपने अनुसार धन की बात को अपने द्वारा पूरा करने के लिये भरोसा देती है,लेकिन बहिन या अन्य किसी के द्वारा अपनी बात बीच में घुसेड देने के कारण बात बिगड भी सकती है।

5/8/2008

कोई सरकारी अडचन सामने आती है,कार्य स्थान में आग या अन्य किसी बात से सरकार के लाइसेंस आदि का कारण भी बन सकता है,शरीर में गर्मी अधिक बढ जाने के कारण शरीर बुखार का भी कारण बन सकता है,सरकारी कागजों के पूरा करने और वीजा तथा नय कारण से दिमागी परेशानी बढ सकती है,ह्रदय सम्बन्धी बीमारी के कारण मानसिक परेशानी मिलती है,सामान के चोरी होने का डर भी मिलता है।

7/8/2008

दिमाग में स्थिरता आती है,किसी प्रकार की सम्पत्ति में बढोत्तरी के कारण बनते है,किसी दोस्त का या रिस्तेदार का आना मिलता है,पत्नी किसी प्रकार के कपडे या घरेलू सामान को खरीदने का मानस बनाती है,सभी तरह से प्रसन्नता मिलती है।

11/8/2008

पुराने साथी के द्वारा या किसी प्रकार मानसिक कारण से झगडा करने का मानस बनता है,किसी बैंक या धन मांगने वाले अपने निजी सम्बन्धी जैसे कि बहिन या किसी रिस्तेदार से अपमान भी मिल सकता है,रेस्टोरेन्ट में किसी प्रकार का नुकसान जैसे कि किसी मशीन आदि का खराब होना भी मिलता है,बहिन भाई की तकरार भी सामने आती है,भाई के द्वारा किसी प्रकार का सहायता का सवाल उठाया जाता है।

14/8/2008

अपने घर आने के लिये और हवाई यात्रा से सम्बन्धित काम को करना पड सकता है,बिजी रहने के कारण खाना भी समय पर नही मिल पाता है,धन को खर्च करना पड सकता है,दिमागी उलझन बनी रह सकती है।

21/8/2008

किसी बैंक से पैसा आदि मिलने का पूरा पूरा भरोसा हो जाता है,और आगे की परेशानी से निकलने का मानस भी बनता है,अपने धर्म और पितर वाले कामों को पूरा करने का समय चालू हो जाता है,इसी प्रकार के कामो के अन्दर अपना मन लगा रहता है।

27/8/2008

बहिनो से या अपने रिस्तेदारों से किसी प्रापर्टी के प्रति बातें होती है,और किसी प्रकार की प्रापर्टी के लिये ग्राहक भी सामने आता है,बात चलती है,और दिमाग में ठंडापन पैदा होता है,बहिन की ओर से अन्धेरा मिलता है,लेकिन कुछ काम भी बहिन के लिये करने पडते है।

Unless otherwise stated, the content of this page is licensed under Creative Commons Attribution-ShareAlike 3.0 License